योगी सरकार जल्द करेगी पुलिसवालों पर तोहफों की बरसात, डीजीपी ने भेजा प्रस्ताव

योगी सरकार जल्द करेगी पुलिसवालों पर तोहफों की बरसात, डीजीपी ने भेजा प्रस्ताव

91

योगी सरकार

The Police News

उत्तर प्रदेश। यूपी में योगी सरकार के सत्ता में आने के बाद पुलिस विभाग में काफी बदलाव आए है। इन बदलावों  की  वजह से सिर्फ पुलिस विभाग ही नही बल्कि आम जनता भी खुश है। एक बार फिर योगी सरकार पुलिस के जवानों को बड़ा तोहफा दे सकती है। शासन को भेजे गए पत्र में शहीदों के परिवारों को मिलने वाली अनुग्रह राशि को 20 लाख रुपए से बढ़ाकर 40 लाख रुपए करने की सिफारिश की गई है जिससे शहीद के परिवार वालों को आर्थिक कमज़ोरी न हो।

प्रस्ताव में मौजूद है और तोहफे

  • 21 अक्टूबर यानि पुलिस स्मृति दिवस के मौके पर योगी सरकार पुलिस के जवानों को बड़ा तोहफा दे सकती है।
  • डीजीपी मुख्यालय ने अपर पुलिस अधीक्षक से लेकर चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के भत्तों में बढ़ोत्तरी से जुड़ा प्रस्ताव शासन को भेजा है।
  • ड्यूटी के दौरान शहीद होने वाले पुलिस विभाग के अफसरों और कर्मचारियों को मिलने वाली सहायता राशि को 20 लाख से 40 लाख करने का प्रस्ताव है। इसके साथ ही पुलिसकर्मियों के आश्रितों को 5 लाख से बढ़ाकर 10 लाख करने का प्रस्ताव है।

योगी सरकार

 

  • यह प्रस्ताव डीजीपी सुलखान सिंह द्वारा तैयार करके सरकार के पास भेजा जा चुका है।
  • इसके अलावा अपर पुलिस अधीक्षक से लेकर फोर्थ क्लास के कर्मचारियों को एक सामान पौष्टिक आहार भत्ता 3150 रुपए देने का प्रस्ताव भी शामिल किया गया है।
  • पुलिस अधीक्षक व पुलिस उपाधीक्षक को 600 रुपए, निरीक्षक से लिपिक संवर्ग को 900 रुपए, हेड कांस्टेबल और कांस्टेबल को 1050 रुपए और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी को 950 रुपए पौष्टिक आहार भत्ते के रूप में दिया जाता था।
  • साइकिल भत्ते की जगह अब मोटर साइकिल भत्ता 2160 रुपए प्रतिमाह किया जाएगा।
  • पीएसी की बाढ़ राहत कंपनियों द्वारा बाढ़ से प्रभावित क्षेत्र में ड्यूटी पर लगे जवानों को हर रोज एक हजार रुपए की दर से प्रोत्साहन भत्ता करने का प्रस्ताव हैं। इसके साथ ही वर्दी भत्ते में भी बढ़ोत्तरी को लेकर प्रस्ताव तैयार किया गया है।
  • वर्तमान स्थितियों को देखते हुए सीएम के निर्देश पर शासन द्वारा पुलिस विभाग के अफसरों और कर्मचारियों के भत्तों में बढ़ोत्तरी को लेकर निर्णय लिया गया है। जिस पर डीजीपी द्वारा प्रस्ताव मांगा गया है।

Also Read :- यहां फौजियों ने ही खोली फौज में भर्ती की पाठशाला, दे रहें टिप्स

Also Read :- साइबर क्राइम से बचने के लिए SSP ने बताया सिम स्वैपिंग का पूरा सच

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

रुवेदा सलाम के जोश और जज़्बे की कहानी, कश्मीर की है पहली IPS

The Police News देश की बागडोर असल मायने