यूपी 100 का छाया वाराणसी में भी डंका, प्रदेश में रहा तीसरा स्थान

यूपी 100 का छाया वाराणसी में भी डंका, प्रदेश में रहा तीसरा स्थान

139

यूपी 100

The Police News

वाराणसी। यूपी 100 सरकार और पुलिस प्रशासन की अपराध को रोकने की एक अच्छी कोशिश साबित हो रही है। यूपी 100 की सफलता का सारा श्रेय पुलिस विभाग को जाता है जिन्होंने इसे लोगों के बीच एक मिसाल बना दिया। यूपी और दिल्ली जैसे राज्यों में अपना परचम लहराने के बाद यूपी 100 ने वाराणसी में भी अपनी जगह बना ली है।

यूपी 100 की सफलता की कहानी

  • वाराणसी में भी छाया क्विक रिस्पांस को लेकर डायल 100 को वाराणसी (Varanasi) जोन में पहला स्थान प्राप्त हुआ है, जबकि उत्तर प्रदेश में तीसरे स्थान पर है।
  • यूपी में डायल 100 की समीक्षा की गई। जिसमें सितम्बर महीने में जिला पुलिस ने यह खिताब अपने नाम किया है।
  • जिला पुलिस ने डायल 100 के रिस्पांस में औसतन 13 मिनट 48 सेकेण्ड में मौके पर पहुंचने का रिकार्ड बनाया है।
  • जिले में डायल 100 की 35 गाड़ियां है, इसमें से एक गाड़ी सदैव मुख्यालय पर रिजर्व रखी जाती है।

एसपी की नजर हरदम लोगों पर

  • मऊ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव ने जानकारी देते हुए बताया कि सर्वाधिक शिकायत वाली जगहों पर डायल 100 का मूवमेंट बढ़ा दिया गया है। तय मानक के मुताबिक मौके पर पहुंचने की पुलिस को कड़ी हिदायत है।
  • विभाग में डायल 100 घटनाओं को लेकर क्विक रिसपांस के लिए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। जिसके तहत जिले के एसपी प्रतिदिन पुलिसकर्मियों की क्लास लेकर 100 डायल की समीक्षा करते हैं।

    डीजीपी सुलखान सिंह ने बदली पुलिस प्रशासन की छवि, गृह मंत्री ने किया सम्मानित

  • जिले में डायल 100 के 35 वाहन हैं। इन वाहनों के रूटचार्ज पर एसपी खुद अपनी नजर रखते हैं।
  • इसमें जिस क्षेत्र से सर्वाधिक घटनाओं की शिकायत मिलती है। इसके तहत रूट प्वाइंट को बढ़ा दिया जाता है। इसी का नतीजा है कि डायल 100 की सक्रियता से मौके पर पहुंचकर पुलिस घटनाओं पर काबू पा रही है।
  • डायल 100 समीक्षा के दौरान सितम्बर महीने में अब तक तय मानक के मुताबिक 13 मिनट 40 सेकेण्ड में औसतन पहुंचने का रिकार्ड बनाया है।

15 मिनट में पहुंचना तय

  • तय मानक के मुताबिक 100 डायल को शहर में 15 मिनट के अंदर व देहात में 20 मिनट के अंदर निर्धारित स्थान पर पहुंचना होता है।
  • मऊ की डायल 100 की पुलिस ने इन तय मानकों के मुताबिक पहले ही पहुंचने की सक्रियता दिखाई है। समीक्षा के दौरान वाराणसी जोन में मऊ का पहला स्थान आया है, जबकि यूपी में तीसरा स्थान प्राप्त हुआ है।
  • मऊ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव ने बताया कि डायल 100 के चेकिंग प्वाइंट को सख्ती से पालन कराया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

रुवेदा सलाम के जोश और जज़्बे की कहानी, कश्मीर की है पहली IPS

The Police News देश की बागडोर असल मायने