कॉन्स्टेबल पापा और IPS बेटे की कहानी, जब पिता ने बेटे को किया सैल्यूट

कॉन्स्टेबल पापा और IPS बेटे की कहानी, जब पिता ने बेटे को किया सैल्यूट

2

लखनऊ- लखनऊ के विभूति खंड थाने में तैनात सिपाही जनार्दन सिंह का बेटा अनूप सिंह आईपीएस तो बन ही गया था अब उन्हें इस बात की खुशी है कि उनका बेटा लखनऊ में ही पोस्टेड हो गया है। यानि पिता अब अपने बेटे के मातहत काम करेंगे जिसे लेकर वो बेहद खुश हैं। उन्नाव से तबादले पर लखनऊ के एएसपी (उत्तरी) बनाए गए आईपीएस अनूप सिंह के पिता जनार्दन विभूतिखंड थाने में सिपाही के पद पर तैनात हैं।

बेटे के मातहत के रूप में काम करने में कितना सहज होगा, इस पर जनार्दन सिंह गर्व से कहते हैं कि वह ऑन ड्यूटी कप्तान को सैल्यूट करेंगे। जनार्दन सिंह ने बताया कि बेटा बहुत ही सख्त और ईमानदार है। वहीं आईपीएस बेटे अनूप सिंह का कहना है कि वह घर पर पिता के पैर छूकर आशीर्वाद लेंगे लेकिन, फर्ज निभाने के दौरान प्रोटोकाल का पालन करेंगे।

 जनार्दन सिंह मूल रूप से बस्ती के रहने वाले हैं और नौकरी के सिलसिले में अलग-अलग जिलों में रहे उनके बेटे की प्रारंभिक शिक्षा बाराबंकी में हुई है।जनार्दन सिंह ने कहा कि वह अपने परिवार के साथ गोमतीनगर के अपने घर पर रहेंगे। बेटा अधिकारी है, इसलिए वह अपने सरकारी आवास में रहेगा।

सिपाही पिता जनार्दन सिंह के मुताबिक दिल्ली स्थित जेएनयू विवि में अच्छे अंक पाने पर बेटे को स्कॉलरशिप मिलती थी मगर वो अपने सीमित खर्च के चलते मना करने के बाद भी बेटा स्कॉलरशिप के रुपए भी घर भेज देता था। बेटे की कामयाबी को लेकर वो अपने बेटे पर बहुत फख्र महसूस करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

DSP मोनिका यादव की कहानी, जिसे प्रदेश में मिला था पहला स्थान

आज महिलाएं हर क्षेत्र में बढ़चढ़कर हिस्सा ले