“मिस माधवी” का सवाल- औरत हूं या सेक्स ऑब्जेक्ट…

“मिस माधवी” का सवाल- औरत हूं या सेक्स ऑब्जेक्ट…

106

लखनऊ।  वैसे तो समाज में कई ऐसे संवेदनशील मुद्दे है जिन पर सामाजिक संस्थाए कार्यरत है हैं लेकिन कुछ ऐसी भी चीज़ें हैं जो हमारी आंखो के सामने से निकल जाती है और हमारा ध्यान उधर जाता तक नहीं, या फिर हम उसपर सोचने की जहमत तक नहीं उठाते। ऐसी ही पहलुओं को समाज के सामने रखने के लिए परवरिश एक कोशिश’ तथा ‘बेवजह’ समिति हमेशा से कार्यरत रहा है। हमेशा की तरह इस बार भी यह संस्था एक हिंदी नाटक “मिस माधवी” का मंचन करने जा रही है, जो दिनांक 12 अगस्त 2017 को शाम 5 बजे और 7 बजे से भारतेंदु नाटक अकादमी ,थ्रस्ट प्रेक्षागृह में आयोजित किया जायेगा। इस नाटक का लेखन और निर्देशन युवा रंगकर्मी आरव आर्यवंशी द्वारा किया गया है। प्रेस वार्ता में आरव ने बताया कि, इसमें महाभारत से लेकर आज की सभ्य नारी का जीवन जीने का स्तर दिखाया जायेगा। सोनागाछी के सेक्स वर्कर की भावनाओ के बारे में समाज का विचार जो साधन, प्रेम और प्रतिक्रिया से जुड़ी स्त्रियों की मनोदशा से विचलित नाटक से समाज को एक नई दिशा दिखाने की कोशिश की गई है। साथ ही म्यूजीशियन रोहित वर्मा, नाटक से जुड़े कलाकार बसंत, आरती भट्ट, रोहित, आरती दूबे, जीवन सिंह रावत, दीक्षा, प्रज्ञा, आदित्य, मयंक, असिस्टेंट डायरेक्टर अमन, लेखक/ निर्देशक एवं “बेवजह” संस्था के प्रतिनिधि तथा “परवरिश एक कोशिश” की संस्थापक तबस्सुम रहमान मौजूद रहे|


हमारे समाज में ऐसे बहुत से लोग है जो औरत को सिर्फ एक साधन की तरह ही समझते हैं , साधन जैसे भोग , विलास या संतान उत्पत्ती। और बहुत से दिल जलो का ये भी मानना हैं कि औरत विश्वास के लायक ही नहीं होती। और तो और माहिलाओं पर बने तमाम बेहुदा चुटकुले भी यही दर्शाते हैं कि चाहे आज हम खुद को कितना भी आधुनिकता की चादर में लपेटे रखें या भारी भरकम शब्दो के साथ बदलाव के गुण गाए, लेकिन असलियत तो यही है कि हम आज भी वही दकियानूसी सोच रखते हैं जिसपर ना सिर्फ खुद चलते हैं बल्की दूसरो को भी चलाना चाहते हैं। तो समाज के उन लोगो को एक नया नजरियां देने के लिये, एक नारी क्या हैं ? नारी के मन की गहराई दिखाने के लिये और समाज की कुछ भ्रांतियों को तोड़ने के लिये ‘बेवजह समीति’और ‘परवरिश एक कोशिश’ की ओर से इस नाटक का मंचन होगा। तो भूल से भी 12 अगस्त कतई मत भूलना और कुछ वक्त अपने लिये निकालना।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like