इस आईपीएस ने खोली थी जेल प्रशासन की पोल, पूरा देश आज भी करता है सैल्यूट

इस आईपीएस ने खोली थी जेल प्रशासन की पोल, पूरा देश आज भी करता है सैल्यूट

215

IPS रूपा डी मुद्गिल

The Police News

नई दिल्ली। सब जानते है की हर सिस्टम में कुछ न कुछ गलत होता है। अक्सर सिस्टम में गड़बड़ी की सजा गुनहगार को मुक्त करके और बेगुनाह को सजा पाकर भुगतनी पड़ती है। अक्सर देखा जाता है पुलिस अफ़सर इस सिस्टम के साथ चलने लगते है या फिर अपने आप को कोसकर चुपचाप सिस्टम के गलत कामो को देखते है। लेकिन आज हम आपको एक ऐसी महिला आईपीएस की कहानी बताएँगे जिन्होंने सिस्टम के गलत कामो के खिलाफ आवाज़ उठाई और सफल भी रही। यह महिला अफ़सर  कोई और नही बल्कि IPS रूपा डी मुद्गिल हैं जिन्होंने धार्मिक दंगो के चलते तत्कालीन मुख्यमंत्री उमा भारती को भी गिरफ्तार किया था। आइये जानते है ऐसी निडर महिला अफ़सर की कहानी जिनकी मिसाले दी जाती हैं।

IPS रूपा डी मुद्गिल की कहानी

  • डी रूपा साल 2000 बैच की आईपीएस अफसर हैं।
  • उनका बचपन कर्नाटक के दावनगेरे शहर में बीता है। रूपा हमेशा पढ़ाई में अव्वल रहीं।
  • MA के बाद उन्होंने NET का एग्जाम क्लियर किया, JRF निकाला और उसके साथ-साथ IPS की तैयारी भी करती रहीं।
  • UPSC में चयन हो जाने के बाद उन्होंने JRF छोड़ दिया।
  • इतना ही नहीं, वह एक ट्रेंड भरतनाट्यम डांसर हैं। भारतीय संगीत में भी उन्होंने ट्रेनिंग ली है।
  • इसके अलावा रूपा एक शार्प शूटर रहीं हैं और उन्होंने ट्रेनिंग के दौरान कई अवॉर्ड जीते हैं।
  • रूपा के पति मुनीश एक आईएएस अफसर हैं और इनके दो बच्चे है।

जेल में चल रहे गड़बड़ घोटालो की खोली पोल

  • IPS डी रूपा ने अपने सीनियर, यानी DGP के. सत्यनारायण राव पर आरोप लगाया है कि वो उनके काम में बाधा डाल रहे हैं। दरअसल उन्होंने इस बात का खुलासा किया है कि जेल में कैदियों को होटल जैसी सुविधाएँ दी जा रही है जो गलत है।
  • जेल में बंद शशिकला को बैरक से अटैच एक किचन दिया गया है, जिसमें उन्हें खास तरह का खाना दिया जाता है।
  • उन्होंने बताया कि यह किचन बनवाने के लिए जेल प्रशासन को दो करोड़ रुपये दिए गए थे। इसके अलावा उन्होंने वहां कई अवैध गतिविधियां होते देखीं।
  • उनके मुताबिक, उन्होंने 25 कैदियों का ड्रग टेस्ट कराया, जिसमें 18 का टेस्ट रिजल्ट पॉजिटिव आया।
  • फेक पेपर स्टैंप केस में दोषी पाए गए अब्दुल करीम तेलगी, जिसको भर्ती के वक्त व्हीलचेयर चलाने के लिए एक व्यक्ति दिया गया था, वो असल में जेल में 4 लोगों से मालिश करवा रहा था।
  • इन खुलासो के बाद पुलिस महकमे की ओर से रूपा को शो कॉज नोटिस भेजा गया है।

IPS रूपा डी मुद्गिल

गलत सिस्टम के खिलाफ आवाज़ उठाती हैं रूपा

  • अपने बेबाक और तेजतर्रार तेवर के चलते रूपा ने इससे पहले भी कई बार सिस्टम से लोहा लिया है।
  • बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा ने एक आर्टिकल को ट्विटर पर टैग किया था जिसका निशाना सीधा पुलिस अफसरों पर किया था जिसका जवाब देते हुए रूपा ने कहा था कि ‘ब्यूरोक्रेसी को राजनीति से मुक्त रहने दीजिए। अफसरों को राजनीति में मत घसीटिए, क्योंकि आने वाले समय में इससे सिस्टम और समाज दोनों को ही कोई फायदा नहीं होगा।’
  • डी रूपा जब मध्य प्रदेश में बतौर एसपी पोस्टेड थीं, तब उन्होंने तत्कालीन मुख्यमंत्री उमा भारती को धार्मिक दंगों के चलते गिरफ्तार किया था।
  • वह जब बंगलुरु में बतौर डीसीपी पोस्टेड थीं, इन्होंने पुलिस वालों को VVIP लोगों की सेवा से हटा लिया था।
  • इन्होने मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के काफिले से गैर सरकारी ढंग से शामिल होने वाली पुलिस की गाड़ियों को भी निकलवा लिया था।
  • उनके इस फैसले के बाद सियासी गलियारों में उनका नाम हर नेता और अधिकारी की जबां पर चढ़ चुका था।

Also read :- IPS विजय कुमार ने साउथ को खौफ से किया मुक्त, चंदन तस्कर वीरप्पन को मार गिराया

Also read :- ‘लेडी सुपरकॉप’ है पुलिस विभाग की ये IPS, माफियाराज के खात्में में अहम योगदान

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

रुवेदा सलाम के जोश और जज़्बे की कहानी, कश्मीर की है पहली IPS

The Police News देश की बागडोर असल मायने