SSB के नए महानिदेशक बने IPS रजनीकांत मिश्रा, राष्ट्रपति से भी मिल चुका है पुरस्कार

SSB के नए महानिदेशक बने IPS रजनीकांत मिश्रा, राष्ट्रपति से भी मिल चुका है पुरस्कार

148

IPS रजनीकांत मिश्रानई दिल्ली- सशस्त्र सीमा बल को नए महानिदेशक मिले हैं। सीनियर आईपीएस अधिकारी रजनीकांत मिश्रा बने हैं। उन्होंने निवर्तमान डीजी अर्चना रामासुंदरम की जगह ली। 1984 बैच के यूपी कैडर के मिश्रा बीएसएफ में एडीजी के तौर पर कार्यरत थे। केंद्रीय बल की पहली महिला चीफ अर्चना रिटायर हो गईं।

IPS अजय पाल शर्मा की दरियादिली,लाचार बेटी को अपने पास से दिए पैसे

1984 बैच के IPS हैं रजनीकांत

-1984 बैच के तेज तर्रार IPS हैं रजनीकांत मिश्रा
-रजनीकांत मिश्रा विज्ञान में स्नातकोत्तर किया है।
-वह कई जिले में बतौर SP कार्य कर चुके हैं।
-DIG,IG और ADG के रूप में कार्य किया है।

IPS रजनीकांत मिश्रा

UP पुलिस की नई पहल,जेल भेजने से पहले मनचलों को देगी रेड कार्ड

यूपी में कई जिलों की संभाल चुके हैं कमान

-रजनीकांत एसएसपी लखनऊ और एसएसपी इलाहाबाद
-सहित उत्तर प्रदेश के कुछ महत्वपूर्ण जिलों में कार्य किया हैं।
-इसके अलावा उन्होंने यूपी पुलिस के इंटेलिजेंस, सतर्कता,
-आर्थिक अपराध विंग, पीएसी, रेलवे केंद्रों में कार्य किया हैं।
-रजनीकांत 2002 में केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर CBI में शामिल हुए
-और वर्ष 2009 तक डीआईजी और आईजी के पद पर कार्यरत रहे।

जानिए आईपीएस अमिताभ यश के बारे में, जिनसे अपराधी खौफ खाते थे

ADG के पद पर भी कार्य कर चुके हैं

-यूपी कैडर में वापस लौटने के बाद उन्होंने आईजी (एसटीएफ),
-IG/ADG मेरठ और ADG (सुरक्षा) UP पुलिस में अपनी सेवाएं दी।
-दूसरी केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर वे बीएसएफ में जून 2013 में शामिल हुए
-IG/ADG BSF फ्रंटियर मुख्यालय त्रिपुरा और दक्षिण बंगाल में काम किया।

आज की युवा पीढ़ी के लिए रोल मॉडल बनते पुलिसकर्मी सचिन कौशिक

राष्ट्रपति पदक से भी नवाजे जा चुके हैं

-महानिदेशक एसएसबी का पद संभालने से पहले वह एडीजी,
-बीएसएफ मुख्यालय के पद पर कार्यरत थे। उन्हें 2003 में
-पुलिस मेडल और 2009 में राष्ट्रपति पुलिस पदक से भी नवाजा गया है।

इसे भी पढ़े- 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सम्मान की गुहार: कांस्टेबल लोकेश ने सोशल मीडिया पर शेयर की अपनी पीड़ा

देश का हर पुलिस जवान अपनी कडी मेहनत