IPS राजेश पाण्डेय की दरियादिली,गरीब महिला की मौके पर जाकर सुनी समस्याएं

IPS राजेश पाण्डेय की दरियादिली,गरीब महिला की मौके पर जाकर सुनी समस्याएं

116

लखनऊ-देश में आपने बहुत पुलिसकर्मी को देखा होगा लेकिन कुछ पुलिसकर्मी ऐसे भी है जिन्हे देखने के बाद आपको पुलिस पर भरोसा और बढ़ जाता है। कुछ ऐसे ही हैं IPS राजेश पाण्डेय। राजेश पाण्डेय एक बेहद ही तेज तर्रार और दयावान ऑफिसर हैं। राजेश पाण्डेय जिले के हर गरीबों और लोगो में खुशियां की रौशनी बटोर रहे हैं। 

IPS राजेश पाण्डेय की दरियादिली-कहा मैं कुर्सी पर बैठूं और फरियादी जमीन पर ऐसा नहीं होगा…

IPS राजेश पाण्डेय की दरियादिली

-कुछ ही एक समय हुआ जब राजेश पाण्डेय काफी सुर्खियों में आ गए।
-दरअसल बुलंदशहर की रहने वाली मीना देवी के साथ कुछ ऐसा हुआ।
-कि राजेश पाण्डेय मौके पर तुरन्त पंहुचे और पुलिसवालों को तुरन्त
-निर्देश दिया कि इस महिला की समस्या का हल हो।

महिला के पति गायब हो गए थे

-मीना के पति कन्हैया मजदूरी के लिए अलग अलग शहरों में जाते थे,
-कई महीने से उनकी कोई खबर न मिलने पर। मीना के ऊपर बच्चों
-की जिम्मेदारी आ गई। मीना के तीन बच्चे थे एक लड़का चार माह का,
-दूसरा दस साल का और लड़की आठ साल की। पति के गायब होने के
-बाद से मीना गरीबी में किसी तरह गुजारा कर रही थी। इधर उधर मजदूरी
-ढूंढती थी मिल गयी तो ठीक, नहीं तो लोगों से मदद मांग कर बच्चों का पेट भरती थी।

फुटपाथ से 8 साल की बच्ची भी चोरी हो गई

-लगभग 4 माह पहले जब वो अपने बच्चों के साथ शमशाद मार्केट जनपद
-अलीगढ़ के फुटपाथ पर सो रही थी, रात में कोई उसके 4 माह के बेटे और
-आठ साल की बेटी को कोई चोरी कर ले गया। आंख खुलते ही मीना ने
-फुटपाथ पर खोखे, रेडी लगाने वाले लोगों से गुहार लगाई, सभी लोगों ने
-सलाह तो दी लेकिन मदद किसी ने नहीं की। वह पागलों की तरह
-भटकती रही लेकिन मदद के लिए कोई आगे नहीं आया।

सचिन की “पुलिस छवि सुधार एक मुहिम” बटोर रही है सुर्खिया, 4.8 मिली चुकी है रेटिंग

एसएसपी ने पुलिसअधिकारियों को दिया तुरन्त निर्देश

-मीना ने जब अपनी तरफ से सारी कोशिशें कर ली तो उसके बाद उसने उसी फुटपाथ
-पर अशोक के पेड़ की डाल पर अपनी बेटी काजल की पासपोर्ट साइज की फोटो टांग
-दीं और कहने लगी कि “मैंने फोटो भी टांग दी” फिर भी कोई नहीं बता रहा है, मेरे बच्चे कहां हैं।
-अलीगढ़ के एसएसपी राजेश पाण्डेय को जब ये बात पता चली तो उन्होंने थाना सिविल
-लाइन के प्रभारी निरीक्षक को बुलाकर तुरन्त मुकदमा कायम कराया गया। इसके लिए
-एक टीम बनाई गई है और बच्चों के बरामदगी का प्रयास किया जा रहा है। एसएसपी
-के इस प्रयास की जिले में लोग सराहना कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सम्मान की गुहार: कांस्टेबल लोकेश ने सोशल मीडिया पर शेयर की अपनी पीड़ा

देश का हर पुलिस जवान अपनी कडी मेहनत