इस IPS ने प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की उठवा ली थी कार, इस साहस को पूरे देश ने किया था सलाम

इस IPS ने प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की उठवा ली थी कार, इस साहस को पूरे देश ने किया था सलाम

128

IPS किरण बेदीप्रदेश ही नहीं देश की बागडोर की सत्ता असल मायने में ऑफिसरों के हाथ में ही होती है। ऐसे में The Police News आपको रोजाना कुछ ऑफिसरों की जिंदगी की दास्तान से रूबरू करवाता रहता है। आज हम आपको ऐसी ही एक शख्सियत से रूबरू करवाते हैं जिनकी मिशाल प्रदेश ही नहीं देश भर में मशहूर थी। उस ऑफिसर का नाम है IPS किरण बेदी। किरण बेदी बहादुरी का दूसरा नाम है। जिन्होने अपने कार्यकाल में ऐसे कारनामें किए कि सदियों तक याद किए जाएंगे। जानिए इनके बारे में…

अमृतसर की रहने वाली हैं IPS किरण बेदी

-किरण बेदी का पंजाब के अमृतसर की रहने वाली हैं।
-इनके पिता का नाम प्रकाश और माता प्रेमलता हैं।
-इनकी प्रारंभिक शिक्षा सैक्रेड हार्ट कान्वेंट में हुई।
-किरण बेदी ने अपनी बीए की पढ़ाई इंग्लिश में की।
-इसके अलावां एमए पॉलिटिकल सांइस में की।
-दिल्ली से उनको डायरेक्टर की उपाधि भी मिली है।

इस लेडी IPS ने सैकड़ो आतंकवादियों का किया खात्मा,युवाओं के लिए है रोल मॉडल

टेनिस गेम में हासिल थी महारथ

-किरण बे दी को टेनिस गेम से काफी प्यार है।
-वह उनका बेहद ही शौकीन गेम है।
-टेनिस खेलते हुए उन्होने कई खिताब जीते
-किरण बेदी टाइटल विजेता भी रह चुकी हैं।

जानिए IPS चारू निगम के बारे में, इस वजह से आई सुर्खियों में

IPS किरण बेदी1972 में पुलिस सेवा में हुई भर्ती

-किरण 1972 में भारतीय पुलिस सेवा में भर्ती हुई।
-वह देश की पहली महिला IPS अधिकारी हैं।
-किरण बे दी अपनी सख्त तेवर अधिकारी थी।
-अपने तेवर की वजह से काफी सुर्खियों में रह चुकी हैं।

क्रेन बेदी के नाम से थी मशहूर 

-उनको नशीले पदार्थों पर रोक लगाए जाने का श्रेय जाता है.
-यातायात प्रबंधन और वीआईपी सुरक्षा जैसे प्रमुख काम किए हैं.
-किरण बेदी को क्रेन बेदी के नाम से भी जाना जाता है.
-दिल्ली ट्रैफिक में तैनाती के दौरान उन्होंने कई सराहनीय कार्य किए।

रील नहीं रियल लाइफ की यह 5 महिलाएं अफसर जिनके नाम से कांपते है अपराधी

IPS किरण बेदीइंदिरा गांधी की उठवा ली थी कार

-किरण ने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की कार को क्रेन से उठवा लिया था.
-तिहाड़ जेल में उन्होंने जेल प्रशासन में काफी महत्वपूर्ण सुधार किए.
-कैदियों के कल्याण के लिए जेल में नशामुक्ति अभियान चलाया.
-इसके लिए उन्हे रमन मैग्सेसे पुरस्कार, जवाहर लाल नेहरू फेलोशिप भी मिली थी.

अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर किया जा चुका है सम्मानित 

-वह संयुक्त राष्ट्र पीस कीपिंग ऑपरेशन्स से भी जुड़ी रहीं.
-इसके लिए सम्मानित भी किया गया था.
-उनको कई राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय सम्मान से सम्मानित किया गया है.
-इसमें जर्मन फाउंडे्शन का जोसफ ब्यूज पुरस्कार, नार्वे का एशिया रीजन एवार्ड,
-अमेरीकी मॉरीसन-टॉम निटकॉक पुरस्कार और इटली का ‘वूमन ऑफ द इयर 2002’ पुरस्कार शामिल हैं.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

जानिए आईपीएस अमिताभ यश के बारे में, जिनसे अपराधी खौफ खाते थे

यूपी पुलिस हमेशा से प्रदेशवासियों के निशाने पर