IPS अफसर शिवदीप वामन को मिला ईमानदारी के बदले ट्रांसफर पर ट्रांसफर

IPS अफसर शिवदीप वामन को मिला ईमानदारी के बदले ट्रांसफर पर ट्रांसफर

189

IPS अफसर शिवदीप वामन

The Police News

नई दिल्ली। कहते है इमानदारी का फल हमेशा मीठा होता है पर पुलिस विभाग के अफ़सरो के लिए ऐसा नही होता है। उन्हें उनकी इमानदारी का फल अक्सर ट्रांसफर देकर दिया जाता है। ऐसे ही एक IPS अफसर शिवदीप वामन लांडे जिनको उनकी ईमानदारी का फल बार बार ट्रांसफर होकर मिला। आइये आज हम आपको शिवदीप वामन के बारे में बताते है जिनके नाम मात्र से ही अपराधी थर थर कांपते है।

शिवदीप वामन जिन्हें ईमानदारी के बदले मिला ट्रांसफर

  • महाराष्ट्र के अकोला जिले के परसा गांव में एक किसान परिवार में जन्मे लांडे 2006 बैच के IPS अफसर हैं।
  • इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने मुंबई में रहकर UPSC की तैयारी की थी। इसके बाद उन्होंने भारतीय राजस्व विभाग में भी नौकरी की थी। इसी बीच उनका UPSC में चयन हो गया।
  • शिवदीप की शादी महाराष्ट्र के मंत्री विजय शिवतारे की बेटी ममता से हुई है।
  • बिहार कैडर के अधिकारी लांडे की पहली नियुक्ति मुंगेर जिले के नक्सल प्रभवित जमालपुर में हुई थी।
  • पटना में अपने कार्यकाल के दौरान अपनी अनोखी कार्यशैली की वजह से शिवदीप पूरे देश में मशहूर हो गए। लेकिन अपराधियों की आंखों में खटकने लगे। इसलिए उनका बार-बार ट्रांसफर किया जाता रहा।
  • पटना से जब उनका अररिया ट्रांसफर हो गया तो भी लोगों की दीवानगी उनके प्रति कम नहीं हुई है। लोगों के फोन और एसएमएस उनको आने लगे।
  • शिवदीप लांडे अपनी ड्यूटी पर जितना सख्त नजर आते हैं, वह उतने ही विनम्र हैं।
  • वह अपनी सैलरी का 60 फीसदी हिस्सा एनजीओ को दान कर देते हैं। इसके अलावा कई सामाजिक कार्यों में भी वह सहयोग करते हैं।

मनचलों और खनन माफियाओ को सिखाया सबक

IPS अफसर शिवदीप वामन

  • शिवदीप ने कई गरीब लड़कियों की सामूहिक शादी भी करवाकर उनका भविष्य भी सुधारा है। इतना ही नही उन्होंने लड़कियों की सुरक्षा के लिए भी काम किया है।
  • अपने पटना में कार्यकाल के दौरान शिवदीप ने मनचलों को भी खूब सबक सिखाया।
  • उनके कार्यकाल के दौरान लड़कियां खुद को सुरक्षित महसूस करने लगी थी। छात्राओं के मोबाइल में उनका नंबर जरुर होता था।
  • एक बार पटना में शहर के बीचो-बीच तीन शराबी एक लड़की को छेड़ रहे थे। उसने शिवदीप को फोन किया। उन्होंने लड़की को बचाकर मनचलों को गिरफ्तार कर लिया।
  • रोहतास कार्यकाल के दौरान शिवदीप ने खनन माफियाओं की नींद उड़ा दी थी।
  • फिल्मी अंदाज में उन्होंने खुद जेसीबी चलाकर अवैध स्टोन क्रेशरों को नष्ट करना शुरू किया तो माफियाओं में हड़कंप मच गया।
  • इस अभियान के बाद उनका ट्रांसफर कर दिया गया। लेकिन वह जहां भी रहते हैं, अपराध से समझौता नहीं करते हैं।

Also read :- सम्मान की गुहार: कांस्टेबल लोकेश ने सोशल मीडिया पर शेयर की अपनी पीड़ा

Also read :- इस आईपीएस ने खोली थी जेल प्रशासन की पोल, पूरा देश आज भी करता है सैल्यूट

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

रुवेदा सलाम के जोश और जज़्बे की कहानी, कश्मीर की है पहली IPS

The Police News देश की बागडोर असल मायने