इस ऑफिसर ने इस तरह पकड़ा था दाऊद के भाई को,अब तक किए हैं 112 एनकाउंटर

इस ऑफिसर ने इस तरह पकड़ा था दाऊद के भाई को,अब तक किए हैं 112 एनकाउंटर

145

प्रदीप शर्मामुंबई। मोस्ट वान्टेड अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहीम के भाई इकबाल कासकर को गिरफ्तार करने वाला कोई और नहीं बल्कि एनकाउंटर स्पेस्लिट प्रदीप शर्मा हैं। प्रदीप ने कुल मिलाकर 113 एनकाउंटर किए हैं। अपनी बहाली के कुछ दिन बाद ही उन्होंने दमखम दिखाते हुए दाऊद के भाई को दबोचा है। हालांकि बीच-बीच में उन पर भी आरोप लगते रहे हैं और ये आरोप गैंगस्टर छोटा राजन ने लगाए थे। इकबाल पर कारोबारियों को धमकाने और हफ्ता वसूलने का आरोप है।

डॉन के करीबी के आरोपों की वजह से प्रदीप शर्मा को वर्ष 2009 में निलंबित कर दिया गया था। उन्हें साल 2006 में हुए ‘लखन भैया एनकाउंटर मामले’ में जनवरी 2010 में गिरफ्तार किया गया था और वह 2013 में सेशन कोर्ट द्वारा बरी कर दिए गए थे। काफी अरसे के बाद जुलाई में ही उनकी बहाली हुई है।

दाऊद के भाई कासकर के बारे में कहा जाता है कि 1993 में हुए मुंबई बम विस्फोट के बाद दुबई भाग गया था। बाद में प्रत्यर्पित कर उसे भारत में लाया गया था। पर किसी भी आतंकी एक्टिविटी में उसका हाथ नहीं मिला। माना जाता है कि वह डॉन दाऊद इब्राहिम का हफ्ता वसूली का काम देखता है।

अपराधियों के लिए यमराज एस पी अजय पाल शर्मा, कुचला काला गैंग का फ़न

प्रदीप शर्माकुछ इस तरह मुम्बई पुलिस ज्वाइन की 

-प्रदीप शर्मा ने वर्ष 1983 में बतौर सब इंस्पेक्टर मुंबई पुलिस ज्वाइन की।
-शर्मा ने अपनी नौकरी की शुरुआत माहिम पुलिस थाने से की थी।
-इसके बाद इनका ट्रांसफर कुछ वर्षों के लिए स्पेशल ब्रांच में किया गया।
-प्रदीप शर्मा पर घाटकोपर और जुहू पुलिस स्टेशन जैसे बड़े थानों का भी चार्ज रहा।
-उस वक्त घाटकोपर थाने का चार्ज लेने से हर पुलिस वाला घबराता था
-लेकिन प्रदीप के आने के बाद से अपराधियों ने उस इलाके से किनारा कर लिया।

प्रदीप शर्मा आगरा के रहने वाले हैं 

– प्रदीप शर्मा का जन्म उत्तर प्रदेश के आगरा में हुआ था।
– पिता महाराष्ट्र के धुले में हिंदी मीडियम स्कूल के प्रिंसिपल थे।
– प्रदीप शर्मा ने अपनी एमएससी की पढ़ाई धुलिया से ही पूरी की।
-पढ़ाई पूरी करने के बाद प्रदीप शर्मा ने पुलिस परीक्षा का टेस्ट दिया
-जिसमें पास होने के बाद उन्हें महाराष्ट्र पुलिस में शामिल होने का मौका मिला।

Exclusive: DSP की अनोखी पहल, गांव के बच्चों को रोजाना 1 घण्टे पढ़ाएगी पुलिस

प्रदीप शर्माप्रदीप शर्मा पर लगे कई गंभीर आरोप

-साल 2004 में प्रदीप शर्मा ने कांदिवली क्राइम ब्रांच यूनिट का चार्ज संभाला था।
-यहां ज्वाइनिंग के कुछ समय बाद ही वो विवादों में घिर गए।
-दो साल बाद ही उनका यहां से अमरावती ट्रांसफर कर दिया गया।
-कुछ दिन बाद उन्हें यहां भी एक केस के चलते सस्पेंड कर दिया गया।
-निलंबन के दौरान ही उन पर लखन भैया की हत्या का आरोप लगा।

ड्रग माफिया के बीच बनाया नेटवर्क

-घाटकोपर पुलिस स्टेशन का चार्ज लेने के बाद प्रदीप शर्मा ने अपना नेटवर्क बनाना शुरू किया।
-इसमें सबसे पहले उनकी मुलाकात झुनझुनवाला कॉलेज के टीचर अरुण सिंह से हुई।
-उस वक्त अरुण सिंह ड्रग माफिया की पूरी खबर रखता था।
-यही कारण था कि प्रदीप शर्मा ने उससे कॉन्टैक्ट किया।
-प्रदीप से हुई मुलाकात में अरुण सिंह ने ड्रग माफिया की पूरी कहानी बताई
-और बतौर मुखबिर उनके लिए काम करना शुरू कर दिया।
-हालांकि, 1991 में अश्विन नायक गैंग के एक बदमाश ने सरेराह अरुण सिंह की हत्या कर दी।
-इसके बाद अरुण सिंह का भाई ओपी सिंह, प्रदीप शर्मा के नेटवर्क में आया।
-ओपी भी अपने भाई की तरह प्रदीप को ड्रग माफिया की पूरी खबर देता था।

गाजियाबाद पुलिस ने 5 हजार इनामी बदमाश को किया गिरफ्तार

प्रदीप शर्मागैंगस्टर विनोद मातकर को मारकर हुए थे फेमस

– बतौर वरिष्ठ पुलिस इंस्पेक्टर क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट में पदस्थ प्रदीप शर्मा ने खतरनाक
– विनोद मातकर को मारकर पहली बार एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के नाम से फेमस हुए।
– विनोद मातकर के अलावा प्रदीप शर्मा ने परवेज सिद्दीकी, रफीक डब्बावाला, सादिक कालिया जैसे नामी बदमाशों का एनकाउंटर किया।
– इसके बाद मुंबई को दहलाने की साजिश रचने वाले लश्कर-ए-तैयबा के तीन आतंकियों का एनकाउंटर किया।
– प्रदीप शर्मा के अनुसार, उन्होंने अपनी 25 सालों की नौकरी में 112 से अधिक एनकाउंटर किए हैं।

बहाली से आगरा के लोगों में खुशी

-प्रदीप शर्मा आखिरी बार 8 अगस्‍त 2013 को आगरा आए थे।
-परिवार का कालोनी वालों ने ढोल-नगाड़ों से स्वागत किया गया था।
-पिछले साल उनके पिता प्रो. आरपी शर्मा के निधन के बाद से मां उनके साथ मुंबई में रह रही हैं।
-दरअसल, मुंबई में अंडरवर्ल्‍ड का खात्‍मा करने में इंस्‍पेक्‍टर प्रदीप शर्मा की बड़ी भूमिका रही है।
-उन्‍होंने दाऊद इब्राहीम और छोटा राजन गैंग के कई गैंगस्‍टर का एनकाउंटर किया।
-प्रदीप ने वर्ष 2013 में आगरा दौरे के समय कहा था- उन्‍होंने 25 साल के करियर में 112 एनकाउंटर किए।
– प्रदीप शर्मा के नाम 112 एनकाउंटर का रिकॉर्ड है, जिसमें लश्कर-ए-तयैबा के तीन खूंखार आतंकवादी भी शामिल हैं।

 

इसे भी पढ़े- 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सम्मान की गुहार: कांस्टेबल लोकेश ने सोशल मीडिया पर शेयर की अपनी पीड़ा

देश का हर पुलिस जवान अपनी कडी मेहनत