DSP मोनिका यादव की कहानी, जिसे प्रदेश में मिला था पहला स्थान

DSP मोनिका यादव की कहानी, जिसे प्रदेश में मिला था पहला स्थान

3

आज महिलाएं हर क्षेत्र में बढ़चढ़कर हिस्सा ले रहीं है ऐसे में अगर हम पुलिस विभाग की चर्चा न करें तो शायद ठीक नहीं होगा। The Police News आपको अपने एक खास सीरीज में ऐसी महिलाओं के बारे में बताएगा जिनके कार्यों की चर्चा आप शायद कम सुन पाते हैं लेकिन वह अपने यूनिक स्टाइल के जरिए आम लोगो में काफी पसंद की जाती हैं।

कुछ ऐसे ही आज एक अधिकारी की कहानी आपको The Police News बता रहा है। वह अपने यूनीक स्टाइल की वजह से जानी जाती हैं। मोनिका यादव मजह 27 साल की उम्र में ही PPS में चयन हुआ।

संभल की रहने वाली मोनिका यादव 2014 बैच की आफिसर हैं। मोनिका दिल्ली में रहकर PPS की तैयारी की। PPS में सेलेक्शन होने के बाद मोनिका गाजियाबाद कन्नौज जैसे जिले में तैनाती मिली। तैनाती के दौरान मोनिका अपने काम को यूनिक तरीके से करने के लिए चर्चा में रहीं।

जब प्रदेश में मिला था पहला स्थान
सितंबर, 2017 में जन सुनवाई पोर्टल पर दर्ज होने वाली शिकायतों को निपटाने के मामले में पूरे प्रदेश में प्रथम स्थान मिला था। इस दौरान DSP ने एक महीने के अंदर 130 शिकायतों का निपटारा कर अन्य पुलिस ऑफिसर्स के लिए एक मिसाल पेश की थी। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

थानेदार की पोस्टिंग में DM की अनुमति का मामला, यूपी सरकार ने अपना पूर्व का आदेश वापस लिया

IAS और IPS के बीच चल रहे विवाद