ATS के ‘स्पॉट कमांडो’ इस तरह आतंकियों के मंसूबे को करेंगे नाकाम

ATS के ‘स्पॉट कमांडो’ इस तरह आतंकियों के मंसूबे को करेंगे नाकाम

67

स्पॉट कमांडोलखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस का आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) अब और भी मजबूत होगा, क्योंकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक नई कमांडो इकाई (स्पेशल पुलिस आपरेशंस टीम) यानी स्पॉट का गठन किया है। इस टीम में ऐसे कमांडो किसी भी आपात स्थिति से निपटने में सक्षम होंगें। सूत्रों के मुताबिक ये कमांडो लखनऊ गोरखपुर, आगरा, वाराणसी व गाजियाबाद में भी तैनात किए जाएंगे। इसके अलावा एटीएस को एडवांस अस्त्र-शस्त्र तथा वाहनों से लैस करने की भी योजना है।

UP: STF और ATS के बाद SSF का होगा गठन

इन शहरों में तैनात रहेंगे ये कमांडो

-अब उत्तरप्रदेश में एटीएस को जाबांज कमांडो मिलेंगे।
-जिसके लिए यूपी में स्पॉट टीम का गठन किया गया है।
-यह कमांडो हर स्थिती से निपटने के लिए सक्षम होंगे।
-ये यूपी के कुछ प्रमुख शहरों में तैनात किए जाएंगे।
-जहां पर ये स्पेशल कमांडो अस्त्र शस्त्र से लैस रहेंगे।
-सूत्रों के मुताबिक ये स्पेशल कमांडो लखनऊ गोरखपुर,
-आगरा, वाराणसी व गाजियाबाद में भी तैनात किए जाएंगे।

UP पुलिस की नई पहल,जिंदगी बचाने के लिए बनाए जाएंगे ग्रीन कॉरिडोर

स्पाॉट कमांडो इस तरह करेंगे काम

-आतंकवाद से प्रदेश सुरक्षित रहे इसके लिए गठन किया गया है।
-स्पॉट (स्पेशल पुलिस आपरेशंस टीम) कमांडो का गठन हुआ है,
-ताकि आतंकियों के बारे में खुफिया जानकारी जुटाने, इंटरनेट की
-निगरानी और घटनाओं की विवेचना प्रक्रिया तेज हो सके।
-इन के लिए 694 पदों की मंजूरी मिली है। इसके साथ ही एटीएस
-में 316 नए पद सृजित किए गए हैं जबकि वर्ष 2007 में एटीएस
-के लिए 264 पद सृजित किए गए थे।

DGP ने पुलिसकर्मियों की तारीफ, जवानों का किया शुक्रिया अदा

NSG की तरह किया जाएगा प्रशिक्षित

-‘स्पॉट’ प्रदेश में खतरनाक अभियानों के लिए विश्व स्तरीय क्षमता वाली टीम होगी,
-जिसे देश के नेशनल सेक्योरिटी गार्ड्स (एनएसजी) की तरह ही प्रशिक्षित किया
-जाएगा। ‘स्पॉट’ के प्रमुख की जिम्मेदारी डीआईजी स्तर के पुलिस अधिकारी को
-सौंपी जाएगी, जो एडीजी कानून-व्यवस्था और आईजी एटीएस के अधीन काम करेगा।

“सैल्यूट” का अलग है तरीका और मतलब देश की तीनों सेनाओं के लिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सम्मान की गुहार: कांस्टेबल लोकेश ने सोशल मीडिया पर शेयर की अपनी पीड़ा

देश का हर पुलिस जवान अपनी कडी मेहनत