पहले ही प्रयास में अंकिता के आईएएस बनने की छोटी सी कहानी

पहले ही प्रयास में अंकिता के आईएएस बनने की छोटी सी कहानी

7

शहर की बेटी ने कमाल कर दिया. वैसे बेटियां हमेशा ही दिल जीतने का काम करती हैं लेकिन इस बेटी ने देश की सबसे बड़ी परीक्षा में 105 वां स्थान हासिल किया है. शहर का नाम लखनऊ है और बेटी का नाम अंकिता मिश्रा. घर के साथ-साथ शहर के लोग भी अंकिता के संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की प्रतिष्ठित सिविल सर्विसेज परीक्षा, 2017 में 105वीं रैंक हासिल करने की खुशियाँ मना रहे हैं. अंकिता ने यह परीक्षा अपने मेहनत और तैयारी के दम पर पहले ही प्रयास में इतने अच्छे रैंक के पास की है.

अंकिता मिश्रा, संघ लोक सेवा आयोग, यूपीएससी, सिविल सर्विसेज परीक्षा 2017

अंकिता के बारे में

असल में, अंकिता का परिवार मूलतः गोरखपुर जिले के ग्राम रामनगर सुरस, तहसील सहजनवा का रहने वाला है। उनके पिता वीके मिश्रा प्रदेश के शहर के बड़े करोबारियों में शुमार हैं. अंकिता के चाचा डॉ सिंधु कुमार मिश्र वरिष्ठ पत्रकार हैं, जिन्होंने कई संस्थानों में अपनी सेवाएं दी हैं. मिश्रा का परिवार गोमती नगर, लखनऊ में रहता है.

अंकिता ने डीपीएस नोएडा से इंटर की परीक्षा उत्तीर्ण की. फिर दिल्ली कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से स्नातक किया और सिविल की तैयारी में जुट गई. अंकिता बचपन से ही होनहार विद्यार्थी रही है। आईएएस बनना ही उनका लक्ष्य था।

इस पर क्या कहती हैं अंकिता?

अंकिता ने अपनी इस सफलता का श्रेय अपने माता पिता को देते हुए कहती हैं कि यह हमारे परिवार के लिए तो उपलब्धि है ही इसके साथ में यह हमारे जैसी लड़कियों के लिए बड़ा उदहारण भी है.

अंकिता कहती हैं कि भारतीय प्रशासन व्यवस्था में संवेदनशील ढंग से राष्ट्र और जनता के हितो के लिए काम करना बहुत जरुरी है.

अंकिता अपने लक्ष्य के बारे में आगे बताते हुए कहती हैं, ‘मुझे मालूम है कि हम जैसे युवाओं से देश को बहुत सारी अपेक्षाएं हैं. मै ईश्वर से प्रार्थना कर रही हूं कि वह मुझे इस दिशा में सफल होने की शक्ति दें.’

अंकिता ने कहा, किसी भी बच्चे की सफलता के लिए जरुरी है कि माता पिता और परिवार उसके साथ रहे. मुझे अपने माता पिता पर गर्व है.

इसके साथ ही अंकिता मिश्र इस परीक्षा की तैयारी करने वालों को कहती हैं कि मेहनत का कभी कोई विकल्प नहीं हो सकता है. आप जितने लगन से इस परीक्षा की तैयारी करेंगे उतने ही अच्छा स्थान आप हासिल कर सकेंगे.

 

हम शहर की शान अंकिता को सलाम करते हैं और उन्हें बहुत सारी शुभकामनाएं प्रेषित करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

“मिस माधवी” का सवाल- औरत हूं या सेक्स ऑब्जेक्ट…

लखनऊ।  वैसे तो समाज में कई ऐसे संवेदनशील मुद्दे