IPS राजेश पांडेय ने किया सराहनीय काम, बचाया निर्दोषों का भविष्य

IPS राजेश पांडेय ने किया सराहनीय काम, बचाया निर्दोषों का भविष्य

213

एसएसपी राजेश पांडेय

The Police News

अलीगढ़। अक्सर हमने फिल्मों में देखा है कि निर्दोषों को झूठे अपराधों में फंसा दिया जाता है। कई बार तो सच सामने आ ही नहीं पाता है लेकिन कभी कभी सच सामने आने में बहुत देर हो जाती है। पुलिस विभाग में एक ऐसा पुलिसकर्मी पुलिस विभाग में एक ऐसा पुलिसकर्मी भी है जिन्होंने कई बेगुनाहों को साजिशों के घेरे से बचाया है। यह अफसर कोई और नहीं बल्कि अलीगढ़ के एसएसपी राजेश पांडेय है। उन्होंने अब तक लोगों की सुरक्षा के अलावा आधा दर्जन से ज्यादा मामलों में निर्दोषों के भविष्य को बिगड़ने से बचाया है। इन मामलों में निर्दोषों पर हत्या का मामला दर्ज किया गया था, लेकिन एसएसपी राजेश पांडेय की सूझबूझ की वजह से उनका भविष्य बिगड़ने से बचा लिया गया। वहीं, हत्या के आरोपियों को पकड़कर जेल में डाल दिया गया है।

एसएसपी राजेश पांडेय

  • एसएसपी पांडेय ने निष्पक्ष विवेचना और खुद की मॉनिटरिंग के वजह से सही हत्यारोपियों को जेल भेजकर निर्दोष लोगों का भविष्य खराब होने से बचा लिया है।
  • छर्रा के सत्रापुर में हुए ट्रिपल मर्डर के बाद चुनावी रंजिश की वजह से मामला दर्ज करा दिया गया था, लेकिन मौके पर पहुंचे कप्तान को नामजदगी कुछ गलत लगी।
  • यही वजह रही कि उन्होंने एसओजी और सर्विलांस को इस घटना के सही खुलासे की जिम्मेदारी सौंप दी और स्वयं ही मॉनिटरिंग करना शुरू कर दिया।
  • मामले की तफ्तीश में पता चला कि ट्रिपल मर्ड का जिम्मेदार दूसरा पक्ष नहीं, बल्कि वही पक्ष है।
  • पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए हत्या के आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

निर्दोषों के लिए मसीहा

एसएसपी राजेश पांडेय

  • क्वासीं के देवसैनी में एक वृद्ध युवक की कुछ बाइक सवारों ने हत्या कर दी, जिसकी रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई गई।
  • इस मामले की भी राजेश जी ने अपने स्तर से जांच शुरू कराई। इस मामले की जांच में एसएसपी ने पाया कि वृद्ध युवक की हत्या किसी और ने नहीं, बल्कि उन्हीं के परिवार के लोगों ने की थी।
  • दूसरे पक्ष को फंसाने के लिए पुलिस में मामला दर्ज कराया गया था। लेकिन एसएसपी की मॉनिटरिंग की वजह से सही आरोपी सलाखों के पीछे पहुंचा दिए गए।
  • वहीं, तीसरे मामले में क्वासीं क्षेत्र के छर्रा अड्डा पुल के नीचे चुनावी रंजिश की वजह से तोताराम की हत्या कर दी गई थी।
  • मामला जब थाने पहुंचा तो इसकी जानकारी एसएसपी को लगी। फिर क्या था उन्होंने अपने स्तर से जांच कराई तो पता चला कि तोताराम के खास नीरू टाइगर ने ही उसकी हत्या कराई थी।

Also Read :-त्योहारों में कानून व्यवस्था होगी सख्त, डीजीपी सुलखान सिंह ने कराई समीक्षा बैठक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

रुवेदा सलाम के जोश और जज़्बे की कहानी, कश्मीर की है पहली IPS

The Police News देश की बागडोर असल मायने