1090 ने देश में कमाया नाम, इसके पीछे इनका था दिमाग

1090 ने देश में कमाया नाम, इसके पीछे इनका था दिमाग

136

तेज तर्रार आईपीएस अधिकारियों में शामिल आईपीएस नवनीत सिकेरा की 1090 सेवा ने यूं तो देश दुनिया में नाम कमाया है। लेकिन उनकी इस वर्किंग स्‍टाइल से इतर दूसरा पहलू भी है जिसमें उन्‍हें एनकाउंटर स्‍पेशलिस्‍ट के नाम से जाना जाता है। लखनऊ में दिनदहाड़े कुख्‍यात गैंगेस्‍टर रमेश कालिया के एनकाउंटर के बाद उनका नाम चर्चा में आया। सिकेरा जहां भी रहे वहां अपराध की रोकथाम और अपराधी को दबाकर रखने की शैली की वजह से वह जनता के चहेते रहे।

मेरठ, बनारस, मुजफफरनगर जैसे अपराध बाहुल्‍य इलाकों में उन्‍होंने अपराधियों के एनकाउंटरों के जरिए वहां जरायम की दुनिया को लगभग खत्‍म कर दिया। हालांकि जिलों की कप्‍तानी के बाद उन्‍होंने अपने को महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों की ओर केंद्रित कर लिया। आईजी लखनऊ रहते हुए उन्‍होंने पहली महिला हेल्‍पलाइन 1090 प्रोजेक्‍ट तैयार किया जिसे यूपी सरकार ने पूरे प्रदेश में लागू किया। सिकेरा की बनाई यह हेल्‍पलाइन हर साल कई लाख महिलाओं और युवतियों को शोहदों और शरारती तत्वों से राहत दिलवाने का काम कर रही है।

कौन हैं नवनीत सिकेरा                                                                                                          

नवनीत सिकेरा 1996 बैच के आईपीएस हैं। उनके पिता एक किसान थे, जिनके साथ पुलिस स्‍टेशन में दुर्व्‍यवहार हुआ था इसी बात से आहत होकर नवनीत ने जुनून में सिविल सेवा परीक्षा पास की।आईएएस के लिए चयनित हुए, लेकिन आईपीएस चुना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

जानिए आईपीएस अमिताभ यश के बारे में, जिनसे अपराधी खौफ खाते थे

यूपी पुलिस हमेशा से प्रदेशवासियों के निशाने पर